सांसद आदर्श ग्राम योजना क्या है ? Sansad Adarsh Gram Yojana

Sansad Adarsh Gram Yojana: सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरुआत 11 अक्टूबर 2014 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया गया था इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण इलाकों में विकास करना है। इस योजना का नाम सांसद आदर्श ग्राम योजना ( Sansad Adarsh Gram Yojana ) इसलिये रखा गया है क्योकी इस योजना के अंतरगर्त सभी राजनीतिक दलो के सांसद को गाँव को गोद लेना है तथा उस गांव को एक आदर्श गाँव बनाना है।

इस लेख मे हम सांसद आदर्श ग्राम योजना ( Sansad Adarsh Gram Yojana ) के बारे मे विस्तार से जानेंगे, अधिकांश इस योजना से जुडे प्रश्न परीक्षा जैसे- UPSC / UPSSSC / BTC आदि मे अधिक पूछे जाते है।

Sansad Adarsh Gram Yojana

सांसद आदर्श ग्राम योजना क्या है ? – Sansad Adarsh Gram Yojana

सांसद आदर्श ग्राम योजना एक कार्यक्रम है। जो की माननीय प्रधानमत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 11 अक्टूबर 2014 को जय प्रकाश नारायण जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर शुरु किया गया था। इस योजना का मुख्य उद्देश्य गाँँवों में विकास और बुनियादी ढाँचे रखने के लिये सभी राजनीतिक पार्टीयों के सांसद को गाँव गोद लेना है एवं उसे आदर्श गाँव बनाना है।

योजना का नाम सांसद आदर्श ग्राम योजना 
शुरु दिनांक 11 अक्टूबर 2014
शुरु द्वारा श्री नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री)
लाभार्थी भारत के गांव
उद्देश्य आदर्श गांव बनाना
अधिकारिक साइट saanjhi.gov.in/

सांसद आदर्श ग्राम योजना के जरुरी तथ्य – Sansad Adarsh Gram Yojana Facts

  • मानव विकास में वृद्धि करना
  • असमानताओं को कम करना
  • अधिकारों और हक की प्राप्ति
  • लोगों की भागीदारी को स्वीकारना
  • लैंगिक समानता को बढावा देना
  • सफाई की संस्कृति को बढ़ावा देंना।

इन्हे भी पढे

  1. हेल्थ कार्ड कैसे बनाये
  2. निर्वाचन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करे
  3. श्रमिक पंजीकरण 2022
  • महिलाओं के लिए सम्मान सुनिश्चित करना, तथा उनके हक की लडाई लडना।
  • सामाजिक न्याय को सुनिश्चित करना।
  • स्थानीय सांस्कृतिक व विरासत को संरक्षण करना एवं प्रोत्साहन देंना।
  • आपसी सहयोग, स्वयं सहायता और आत्म निर्भरता का निरंतर अभ्यास कराना।
  • भारतीय संविधान में उल्लेखित मौलिक अधिकारों और मौलिक कर्तव्यों में प्रतिष्ठापित मूल्यों का पालन करना।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.